Breaking

Monday, February 24, 2020

2 Timothy 3 - अन्तिम दिनों में कठिन समय आएंगे।

2 Timothy 3 - अन्तिम दिनों में कठिन समय आएंगे। 
2 Timothy 3 - अन्तिम दिनों में कठिन समय आएंगे।
2 Timothy 3 

1 पर यह जान रख, कि अन्तिम दिनों में कठिन समय आएंगे।
2 तीमुथियुस 3:1
1 Know also this, that, in the last days, shall come dangerous times.
2 Timothy 3:1

2 क्योंकि मनुष्य अपस्वार्थी, लोभी, डींगमार, अभिमानी, निन्दक, माता-पिता की आज्ञा टालने वाले, कृतघ्न, अपवित्र।
2 तीमुथियुस 3:2
2 Men shall be lovers of themselves, covetous, haughty, proud, blasphemers, disobedient to parents, ungrateful, wicked,
2 Timothy 3:2

3 दयारिहत, क्षमारिहत, दोष लगाने वाले, असंयमी, कठोर, भले के बैरी।
2 तीमुथियुस 3:3
3 Without affection, without peace, slanderers, incontinent, unmerciful, without kindness,
2 Timothy 3:3

4 विश्वासघाती, ढीठ, घमण्डी, और परमेश्वर के नहीं वरन सुखविलास ही के चाहने वाले होंगे।
2 तीमुथियुस 3:4
4 Traitors, stubborn, puffed up, and lovers of pleasures more than of God:
2 Timothy 3:4


5 वे भक्ति का भेष तो धरेंगे, पर उस की शक्ति को न मानेंगे; ऐसों से परे रहना।
2 तीमुथियुस 3:5
5 Having an appearance indeed of godliness, but denying the power thereof. Now these avoid.
2 Timothy 3:5

6 इन्हीं में से वे लोग हैं, जो घरों में दबे पांव घुस आते हैं और छिछौरी स्त्रियों को वश में कर लेते हैं, जो पापों से दबी और हर प्रकार की अभिलाषाओं के वश में हैं।
2 तीमुथियुस 3:6
6 For of these sort are they who creep into houses, and lead captive silly women laden with sins, who are led away with divers desires:
2 Timothy 3:6

7 और सदा सीखती तो रहती हैं पर सत्य की पहिचान तक कभी नहीं पहुंचतीं।
2 तीमुथियुस 3:7
7 Ever learning, and never attaining to the knowledge of the truth.
2 Timothy 3:7

8 और जैसे यन्नेस और यम्ब्रेस ने मूसा का विरोध किया था वैसे ही ये भी सत्य का विरोध करते हैं: ये तो ऐसे मनुष्य हैं, जिन की बुद्धि भ्रष्ट हो गई है और वे विश्वास के विषय में निकम्मे हैं।
2 तीमुथियुस 3:8
8 Now as Jannes and Mambres resisted Moses, so these also resist the truth, men corrupted in mind, reprobate concerning the faith.
2 Timothy 3:8


9 पर वे इस से आगे नहीं बढ़ सकते, क्योंकि जैसे उन की अज्ञानता सब मनुष्यों पर प्रगट हो गई थी, वैसे ही इन की भी हो जाएगी।
2 तीमुथियुस 3:9
9 But they shall proceed no farther; for their folly shall be manifest to all men, as theirs also was.
2 Timothy 3:9

10 पर तू ने उपदेश, चाल चलन, मनसा, विश्वास, सहनशीलता, प्रेम, धीरज, और सताए जाने, और दुख उठाने में मेरा साथ दिया।
2 तीमुथियुस 3:10
10 But thou hast fully known my doctrine, manner of life, purpose, faith, longsuffering, love, patience,
2 Timothy 3:10

11 और ऐसे दुखों में भी जो अन्ताकिया और इकुनियुम और लुस्त्रा में मुझ पर पड़े थे और और दुखों में भी, जो मैं ने उठाए हैं; परन्तु प्रभु ने मुझे उन सब से छुड़ा लिया।
2 तीमुथियुस 3:11
11 Persecutions, afflictions: such as came upon me at Antioch, at Iconium, and at Lystra: what persecutions I endured, and out of them all the Lord delivered me.
2 Timothy 3:11

12 पर जितने मसीह यीशु में भक्ति के साथ जीवन बिताना चाहते हैं वे सब सताए जाएंगे।
2 तीमुथियुस 3:12
12 And all that will live godly in Christ Jesus, shall suffer persecution.
2 Timothy 3:12


13 और दुष्ट, और बहकाने वाले धोखा देते हुए, और धोखा खाते हुए, बिगड़ते चले जाएंगे।
2 तीमुथियुस 3:13
13 But evil men and seducers shall grow worse and worse: erring, and driving into error.
2 Timothy 3:13

14 पर तू इन बातों पर जो तू ने सीखीं हैं और प्रतीति की थी, यह जानकर दृढ़ बना रह; कि तू ने उन्हें किन लोगों से सीखा था
2 तीमुथियुस 3:14
14 But continue thou in those things which thou hast learned, and which have been committed to thee: knowing of whom thou hast learned them;
2 Timothy 3:14

15 और बालकपन से पवित्र शास्त्र तेरा जाना हुआ है, जो तुझे मसीह पर विश्वास करने से उद्धार प्राप्त करने के लिये बुद्धिमान बना सकता है।
2 तीमुथियुस 3:15
15 And because from thy infancy thou hast known the holy scriptures, which can instruct thee to salvation, by the faith which is in Christ Jesus.
2 Timothy 3:15

16 हर एक पवित्रशास्त्र परमेश्वर की प्रेरणा से रचा गया है और उपदेश, और समझाने, और सुधारने, और धर्म की शिक्षा के लिये लाभदायक है।
2 तीमुथियुस 3:16
16 All scripture, inspired of God, is profitable to teach, to reprove, to correct, to instruct in justice,
2 Timothy 3:16


17 ताकि परमेश्वर का जन सिद्ध बने, और हर एक भले काम के लिये तत्पर हो जाए॥
2 तीमुथियुस 3:17
17 That the man of God may be perfect, furnished to every good work.
2 Timothy 3:17


आपको यह भी पसंद आ सकता है :


No comments:

Post a Comment